Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2020 |Revised Guidelines| Coverage

   Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना  किसानों की फसल की insurance करवाती है.अब insurance के बेनेफिट से तो आप सब पहले से ही अच्छी तरह अवगत हैं.

वर्तमान काल में आदमी अपनी खुद की insurance भी करवा के रखता है. जिससे की कोई अनहोनी होने पर उसके परिवार पर आर्थिक मुसीबत ना आए.ठीक उसी प्रकार से फसल का बीमा करवा लेने से किसान अपना सुरक्षा कवच बना सकते हैं.

यह ONE NATION ONE SCHEME के तर्ज पर तैयार की गयी योजना है.जिसका तथ्य पूरे राष्ट्र में एक ही स्कीम को लागू कर सबको समान बेनेफिट देना है.

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2020

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का सृजन-

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana की शुरआत 16 फ़रवरी 2016 को प्रधान मंत्री मोदी जी द्वारा की गयी थी.यह योजना हमारे किसान भाइयों की फसल को सुरक्षित करने के लिए लॉंच की गयी है.इससे उनकी फसल खराब होने की हालत में भी उनकी आमदनी सुरक्षित रहेगी.

इस योजना ने निम्नलिखित 2 योजनाओं का स्थान लिया है.

  • National Agriculture Insurance Scheme
  • Modified National Agricuture Insurance Scheme

दूसरे शब्दों में कहें तो यह योजना इस 2नो योजनाओं के महत्वपूर्ण बिंदु समेटे हुए तथा कुछ कमजोर बिंदुओं को हटा के एक संपूर्ण package है.

यहाँ नीचे टेबल में हम आपको इनका ब्रीफ दे रहे हैं.

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा  योजना :

योजना का नाम   प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
मंत्रालयMinistry Of Agriculture And Farmers Welfare
लॉंच की तारीख16 फ़रवरी  2016
उद्देश्यकिसानों की फसल का insurance कर उन्हें सुरक्षित करना.
लाभार्थीकिसान
बीमा राशि 2 lac तक का बीमा
आवेदन की अंतिम तिथि 31 July 2020
आवेदन modeऑनलाइन /ऑफलाइन
ऑफिसियल वेबसाइट https://pmfby.gov.in/

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana को Impliment  करने वाली agency:

प्रधानमंत्री फसल निमा योजना का कार्यभार संपूर्ण रूप से Ministry of Agriculture And Farmers Welfare (MoA&FW) को सौंपा गया है.
यह मंत्रालय निम्नलिखित इन सभी organisation के साथ मिल कर इस योजना का संपूर्ण स्वरूप दे रहा है.

  • Department of Agriculture, Cooperation & Farmers Welfare (DAC&FW)
  • Government of India (GOI)
  • The concerned State in co-ordination with various other agencies; viz Financial Institutions like Commercial Banks, Co-operative Banks, Regional Rural Banks and their regulatory bodies, Government Departments 

इस योजना के तहत निम्नलिखित insurance companies द्वारा भुगतान किया जाता है.

 

फसल बीमा योजना का उद्देश्य :

जैसे की आप सब जानते है कि भारत एक कृषि प्रधान देश है | देश के अधिकांश लोग कृषि पर निर्भर है | जिससे  उनकी जीवनी चलती है.|

जो किसान हमारे लिए फसलों का उत्पादन करते है, उन लोगो को लाभ प्राप्त  नहीं होता उनकी आय काफ़ी सीमित होती है. साथ ही फसल का नुकसान हो जाने पे उन्हें भयंकर मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. इसी तरह के किसानों  के लिए  प्रधानमंत्री  फसल बीमा योजना से लाभ दिया गया है |

  • इस योजना का उद्देश्य प्राकृतिक आपदाओं, कीटों या बीमारियों के कारण क्षतिग्रस्त फसलों को    नष्ट होने से  किसानों को मुआवजा प्रदान करना है .
  • वर्तमान स्थिति में स्थितियाँ विपरीत हो जाने पर यानी की फसल का नुकसान हो जाने पर. ऐसे में भारत में बहुत से किसान आत्महत्या करने पर मजबूर हो जाते हैं. इन्ही विष्म परिस्थितियों में उन्हें सहारा देने के लिए प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना को लॉंच किया गया है.
  • कृषि क्षेत्र को पैसा मुहैया करवाना जो की भारत में अलग अलग प्रकार की फसलों की पैदावार को बढ़ावा देगा.
  • फसल के INSURE होने पर किसान आश्वस्त रहेंगे. जिससे की उन्हें नवीनतम कृषि विधियों को अपनाने का उत्साह मिलेगा.
  •  किसान आत्मनिर्भर बन सकेंगे और अपनी चिंताओं से मुक्त हो पाएँगे।किसान की  आय के साधन तो बढ़ेंगे ही भारत विकास की और गतिशील हो सकेगा.
  • किसानो के पास स्थायी रूप से आमदनी हो सके.

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2020

पीएम फसल बीमा योजना के लिए पात्रता – 

जो भी किसान अधिसूचित ज़मीन पर अधिसूचित फसल की कृषि उस सीज़न में कर रहा है जो की INSURANCE के COVERAGE पीरियड में आता है. वह इस योजना का लाभार्थी बन सकता है.

अनिवार्य कवरेज :

वे किसान जिन्होने कृषि के लिए KCC(किसान क्रेडिट कार्ड ) लोन ले रखा है. उन्हें अनिवार्य रूप से इस योजना में शामिल होना होगा. इसका मुख्य कारण यह है की वह लोन पे कृषि कर रहें हैं. यदि कृषि सुरक्षित रही तो उसके नष्ट हो जाने पर भी उनपे लोन का भर नही होगा. क्यूंकी INSURANCE के भुगतान से उन्हें सहयता मिलेगी.

स्वैच्छिक कवरेज : कोई भी किसान जो अपनी इच्छा से फसल को INSURE करवाना चाहता हो वह इसमें भाग ले सकता है. चाहे उसने लोन ना भी लिया हो.

फसलों का कवरेज-                                 

  • वार्षिक वाणिज्यिक / वार्षिक बागवानी फसलें               
  • खाद्य फसल                                                  
  • तेलों के बीज
  • बारहमासी फसले
  • बारहमासी बागवानी फसलें     
  • Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2020                                  

Risk Coverage In PM Fasal Bima Yojana

फसल की पैदावार में हानि होने पर निम्नलिखित जोखिम के चरणों को योजना के अंतर्गत शामिल किया गया है.

  • फसल की बुवाई के समय, बीज रोपण के समय,अंकुरण जोखिम: किसी भी समय यदि बारिश कम होने से या मौसम अनुकूल ना होने की वजह से यदि फसल को नुकसान होता है तो insurance covergae  दी जाएगी.
  • स्थायी फसल (फसल की कटाई से लेकर बुवाई): गैर-रोकथाम के जोखिमों( जैसे की सूखा, बाढ़,व्यापक कीट और रोग का दौरा, भूस्खलन, प्राकृतिक कारणों से आग, बिजली, तूफान और चक्रवात।) के कारण उपज के नुकसान को कवर करने के लिए व्यापक जोखिम बीमा प्रदान किया जाता है.
  • जंगली जानवरों द्वारा हमले के कारण फसल के नुकसान के लिए एड-ऑन कवरेज:
    इस योजना के अंतर्गत जंगली जानवरों द्वारा हमला किए जाने पर अगर फसल प्रभावित होती है उस स्थिति में भी add on coverage के लिए बीमा दिया जाता है.
  • स्थानीयकृत आपदाएँ:ओलावृष्टि, भूस्खलन, बाढ़, बादल फटने और प्राकृतिक आग जैसी स्थानीय जोखिमों की घटना के परिणामस्वरूप अधिसूचित बीमित फसलों को नुकसान / होने पर भी बीमा दिया जाता है.
  • हार्वेस्ट के बाद के नुकसान :जिन्हें हेलीस्टॉर्म, चक्रवात, चक्रवाती बारिश और बेमौसम बारिश के विशिष्ट खतरों के खिलाफ कटाई के बाद खेत में कटी और फैली हुई / छोटी बंधी अवस्था में सूखने के लिए रखी हुई फसल को कवरेज मिलता है. किंतु यह कवरेज फसल की कतई के बाद के 2 साप्ताह तक की अवधि के लिए ही applicable है.

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2020

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज –

  • राशन कार्ड  
  • आधार कार्ड 
  • बैंक खाता नंबर जो आधार से लिंक हो
  • पहचान पत्र 
  • किसान का एक पासपोर्ट साइज फोटो 
  • खेत का खसरा नंबर 
  • किसान का निवास प्रमाण पत्र (इसके लिए किसान ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, वोटर आईडी कार्ड  आदि)

बीमा की इकाई

यह स्कीम एरिया एप्रोच के आधार पर काम करते है. एरिया एप्रोच का मतलब है परिभाषित क्षेत्र.
परिभाषित क्षेत्र: गाँव या गाँव पंचायत के स्तर पर जिस क्षेत्र को उस गाँव में प्रमुख फसलों के लिए कहा जा सकता है.

परिभाषित, स्थानीयकृत आपदाओं के जोखिम और पोस्ट-हार्वेस्ट के नुकसान के आकलन के लिए परिभाषित क्षेत्र जिसे हम नोटीफाइड एरिया भी कहते हैं (बीमा की इकाई) को ही नुकसान के आंकल्न के लिए मान्य माना जाएगा.

पीएम  फसल  बीमा  योजना  गतिविधि  कैलेंडर :

फसलकिसानों के प्रस्तावों की प्राप्ति के लिए कट-ऑफ तारीख।फसल की पैदावार का डाटा प्राप्त करने के लिए कट-ऑफ तारीखऋण देने की अवधि
खरीफ31st जुलाईकटाई के एक महीने के अंदर अंदर.एप्रिल से लेकर जुलाई तक
राबी31st डिसेंबरकटाई के एक महीने के अंदर अंदर.ओक्टोबर से लेकर डिसेंबर तक

किसानो द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
में  दिए जाने वाला Premium:

फसल                            किसानो द्वारा दिया देने वाला premium

1   रबी                                1.5%   

2   खरीफ                            2.0%

पीएम फसल बीमा योजना के लाभ

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत देश के सभी किसान योजना का लाभ ले सकते है।

  • यदि किसी किसान की फसल प्राकृतिक आपदा के कारण नष्ट हो जाती है तो सरकार द्वारा किसानो को मुआवजा दिया जायेगा।सरकार के द्वारा ये मुआवजा सीधे किसान के खाते में ट्रांसफर किये जायेंगे।
  • इसके लिए आपको किसी भी दफ्तर जाने की आवश्यकता नहीं होगी।इस योजना के अंतर्गत किसान को 2 लाख तक का बीमा मिलेगा।
  • फसल के नाश होने से जो डर किसानों के मन में रहता था अब वह नही होगा. परिणामस्वरूप वह कृषि की नयी तकनीकों को भी अपनाएंगे.
  • इससे प्रोत्साहित हो कर किसान विभिन्न प्रकार की फसलों का उत्पादन करेंगे. हमारा भारत में फसलों की पैदावार बढ़ेगी.
  • किसानों को स्थाई आय प्राप्त होगी जिससे की उन्हें हौंसला मिलेगा. वे अपना जीवन यापन निश्चिंत हो के कर सकेंगे.

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2020 |Revised Guidelines| Coverage

किसानों की सहयता के लिए प्रधान मंत्री द्वारा और भी योजनाएँ चलाई गयी हैं. जानने के लिए ये भी पढ़ें PM KISAN MAANDHAN YOJANA

 इन बातों का  रखें विशेष ध्यान :

  • फसल की बुआई के 10 दिन के अंदर आपको बीमा पॉलिसी लेनी होगी.
  • फसल कटने के 14 दिन के भीतर हुए नुकसान की भरपाई बीमा योजना में होती है.
  • कुदरती कहर की वजह से हुए नुकसान की स्थिति में ही बीमा का फायदा मिलेगा.
  • फसल के नुकसान की स्थिति में तुरंत बैंक को सूचना देनी होगी.

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2020 के लिए

ऑनलाइन आवेदन 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना फॉर्म ऑनलाइन भरने की लिए इस वेबसाइट पर क्लिक करना होगा |

फसल बीमा योजना में आवेदन करने के लिए सबसे पहले आप को ऑफिशियल वेबसाइट पर अपना एक एकाउंट बनाना होगा |

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2020 |Revised Guidelines| Coverage

 

Register for New Farmer User

Farmer Details

 

Residential Details

 

Farmer ID

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2020 |Revised Guidelines| Coverage

Account Details

 

Do you have IFSC

फसल बीमा योजना का फॉर्म सही सही भरने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा जिसके बाद आपको अपनी स्क्रीन पर सक्सेसफुल का मैसेज दिखाई देगा |

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

 

Then submit the form.

आशा करते हैं की हमारे द्वारा दी गयी जानकारी आपके लिए लाभप्रद रही होगी.

यदि आपके किसी जानने वाले के लिए यह जानकारी काम की है तो उन्हें इस पोस्ट का लिंक अवश्य फॉर्वर्ड करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *