कॉविड 19 वैक्‍सीन योजना ऑनलाइन अप्लाइ (2020- 2021)

 कोविड 19 वैक्सीन योजना ## इमर्जेंसी अप्रूवल ##टीकाकरण  की  मंज़ूरी ## रेजिस्ट्रेशन## लगेगा टीका## हाइलाइट्स ## दस्तावेज ## फेसिलिटेट ## टीकाकरण ऑनलाइन अप्लाइ ##

  कोविड 19 वैक्सीन योजना 

कोविड 19 वैक्सीन  के प्रयोग से देश में  फैल रही कोरोना  महामारी  को ख़त्म करना है.  वैक्सीन  के प्रयोग से हम इस  Covid -19  की रोकथाम कर सकेंगे, और देश में लोगों को इससे नीज़ात  मिलेगी . कॉविड 19  दुनिया भर  में  कुछ  ही  क्षण  में  हवा  की तरह  पूरे  देश  में  फैल  गया . इस महामारी  से देश  विदेश के  सभी  लोग  पीड़ित हैं.  कॉविड 19 वैक्‍सीन से इसका उपचार किया ज़ायेगा.  इस  वाइरस  से  कारण लोगों को  बड़ी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है.

 सबसे बड़ी परेशानी  तो  भुखमारी  और नौकरी की  है . इस महामारी  की वजह से  हमारे देश में 10 करोड  से अधिक  लोगों की  नौकरी छूट गई .ससे  लोगों  को  बेरोज़गारी  का सामना करना पड़ा  है.  3 months के  लॉकडाउन  में देश  को  32  करोड  का  नुकसान  हुआ  है . सबसे अधिक  तो  देश  में  गरीब  लोगों को तकलीफ का सामना करना पड़ा  है .

जो  लोग अपने  घरों से  दूर अपना रोज़गार कमाने के लिए गये हुए थे .उन्हें सरकार ने उनके घर पहुँचाने  में बस सेवा  प्रदान की,  कुछ लोग  पैदल ही अपने  घरों  को  निकल  पड़ें.  रास्ते में कुछ दानी  सज्जनों  द्वारा उनके  खाने पीने का प्रबंध  किया गया  था. U P और हरियाणा सरकार ने इसने काम में बहुत  मदद की है . कॉविड 19  वैक्‍सीन से इस ब़ीमारी को जड से मिटाने का कम करेगी .

 जिसका भुगतान गरीब लोगों को करना पड़ा है . हमारे देश में इस बीमारी से लाखों  लोगों की ज़ान ज़ा चुकी  है .यह वाइरस एक गंभीर समस्या है . 

हमारा देश 1 साल से  ग्रस्त  है, जिस  कारण  कई  लोगों की मौत हुई  है . देश की बड़ी – 2 फ़ार्मा कंपनी ने इस  मेडिसिन को बनाने का काम पूरा कर लिया है |  बड़े -2  वैज्ञानिकों ने  दिन रात मेहनत कर  मेडिसिन  बनाई  है . लगभग 8 महीने  की कड़ी  मेहनत  के बाद यह दवा तैयार  की गई है  | सरकार अब इस  वैक्‍सीन  का  ट्राइयल .शुरू कर दिया है. लोगों को उनकी आयु के अनुसार इस वॅक्सीन को लगवाना होगा. 

इस  वॅक्सीन   को बनाने के लिए भारत  बाइयोटेक , सीरम इन्स्टिट्यूट , पॅनेसिया बाइयोटेक , इंडियन इममूनोलॉगिकल्स, म्यनवक्ष और  बाइयोलॉजिकल फ़ार्मा , कंपनीज़ ने करोना वाइरस की दवाई बनाई  है |  हमारे  देश  के डॉक्टर्स और बड़े  वैज्ञानिकों  ने अपनी  कडी  मेहनत के बाद इस  वॅक्सीन पर रिसर्च  कर के  इसे तैयार किया  है . भारत को छोड़ कर विदेशो में इस  वॅक्सीन का ट्राइयल शुरू हो चुका  है .

कॉविड 19 वैक्‍सीन योजना

कॉविड 19 वैक्‍सीन  टीकाकरण योजना  में  रूस, अमेरिका, ब्रिटेन , जापान  के  वैज्ञानिकों  ने कोरोना  दवाई बनाई और सरकार  द्वारा  मंज़ूरी मिलने पर इसका टीका करण शुरु कर  दिया है . जिसका रिज़ल्ट अभी तक ठीक आया है . इस वॅक्सीन को बनाने के लिए जुकाम की दवा, पेरा सीटामोल और अन्य इम्यूनिटी बढाने वाली  दवाईयों का प्रयोग किया गया है . Pfizer  की वैक्सीन  मैसेंजर- RNA या  mRNA दवाई  से बनी है |  इस वॅक्सीन का ट्राइयल बाहरी  देशों  में  हो  रहा है .

सबसे पहले इन राज्यों में ट्राइयल शुरू हुआ

भारत में  इस टीकाकरण ट्राइयल बेस में चार राज्यों को चुना गया है . महाराष्ट्र, राजस्थान , पंजाब ,मध्य प्रदेश में किया ज़ाएगा . टीकाकरण के समय डॉक्टर और .हेल्थ वर्कर साथ में काम करेंगें. देश में  30 करोड लोगों  की वॅक्सीन लगाने के लिया भारत सरकार प्रबंध करेगी .  पहले चरण  में  23%  लोगों पर ट्राइयल किया ज़ाएगा . आगर सफल रहा तो भारत के लिया  खुशी  की  बात  होगी.देश के हर राज्य में वॅक्सीन को लगाया ज़ायेगा .

कॉविड 19 वैक्‍सीन  इमर्जेंसी अप्रूवल क्यों हुआ .

कॉविड 19 वैक्‍सीन  करोना महामारी की वजह से बड़ी तेजी से लोगों की मौत हो रही है, 

हर  इंसान  को अपनी  इम्यूनिटी स्ट्रॉंग बनानी  है, ताकि वो अपना बचाव कर सकें | इस भयानक बीमारी  की वजह से कई  लोगों का रोज़गार  छूट गया है .कई कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है.  जिस कारण भी कई  लोग मानसिक रूप से परेशान हो  गए  है .  

भारत ने  कोरोना वायरस को हराने में बड़ी सफलता हासिल की है .सरकार की ओर से  भारत में सीरम इंस्टिट्यूट की कॉविडशील्ड और भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन की मंज़ूरी दी गई है |  केंद्र सरकार ने ट्राइयल बेस पर इसकी मंज़ूरी दी है |

तीन ट्राइयल में इस  वॅक्सीन  की प्रोसेसिंग की ज़ा चुकी है . ड्रग्स कंट्रोलर  जनरल ऑफ  इंडिया  इस टीकाकरण की मंज़ूरी दी  है .  राज्य सरकार ने एलान किया है कि 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को दी ज़ायेगी .और इसी के अब 18 से अधिक आयु वाले नागरिकों को भी वॅक्सीन लगाई ज़ाएगी .जिसकी तारीख 1,मई 2021 तक दी गई है.

कॉविड 19 वैक्‍सीन  केंद्र सरकार  ने  4 राज्यों को टीकाकरण  की  मंज़ूरी  

केंद्र सरकार ने 4 राज्यों को वॅक्सिनेशन  की  मंज़ूरी दी है , पंजाब, असम, आंध्र प्रदेश और गुजरात के दो-दो जिलों में कोरोना टीके का परीक्षण होगा. वॅक्सीन लगाने के बाद  30 मिनिट तक दवाई का  रियक्श्न  देखा ज़ाएगा

अगर ठीक रहा तो इसका प्रयोग किया ज़ाएगा .  कॉविड 19 वैक्‍सीन फ़ार्मा  कंपनी  ने बताया है की 80 से 90% तक वॅक्सीन पूरी तरह ठीक है . कॉविड 19 वैक्‍सीन से  रिज़ल्ट्स अच्छे  आएँगे .

देश के सभी  हॉस्पिटल्स में टीके के परीक्षण की तैयारी पूरी हो चुकी है.  हमारे देश में 22 डिसेंबर को सरकार ने यह एलान किया था, की 25 डिसेंबर को टीकाकरण किया ज़ाएगा | 2,360 प्रशिक्षण सत्र पूरे किए गए और सात हजार जिला  निरीक्षकों का प्रशिक्षण पूरा हुआ.

हमारे देश में करोना वॅक्सिनेशन के लिए हॉस्पिटल में डॉक्टर्स और स्वास्थ्य कर्मचारियों को बड़ी चुनौतियों का सामना करना पडेगा . कॉविड 19 वैक्‍सीन  देने के बाद  30 मिनिट तक मरीज की तबीयत  देखनी   होगी . उसकी तबीयत ठीक या नहीं |  इसके लिए डॉक्टर, नर्स और स्टाफ मेंबर  को ध्यान रखना होगा .  लगवाने के लिए कॉविड अप्लिकेशन को फोन पर इनस्टॉल करें 

 कॉविड दवाई के लिए रेजिस्ट्रेशन  करें . 

कॉविड 19 वैक्‍सीन  रेजिस्ट्रेशन करने के लिए अपना नाम और पता और  12 फोटो आइडेंटिटी  डॉक्यूमेंट्स वोटर ,आइ डी, आधार कार्ड,  ड्राइविंग लाइसेन्स,  पासपोर्ट  और पेनशन डॉक्युमेंट, में  से  किसी  एक की ज़रूरत होगी.

इन रेजिस्ट्रेशन के बाद आपके मोबाइल पर मेसेज आएगा उसमें आपको वॅक्सीन का शेड्यूल बताया ज़ाएगा |

कॉविड 19 वैक्‍सीन योजना

कौन सी वॅक्सीन के नाम पर है चर्चा .

भारत में दो फ़ार्मा कंपनी को वॅक्सीन के लिया मंज़ूरी मिल गई है.  इसमें सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी ओर भारत बाइयोटेक को मंज़ूरी दी गई  है .

कोविशील्ड वैक्सीन सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ  टेक्नॉलजी की दवाई है.  भारत बाइयोटेक  ने आईसीएमआर को बनाया है . दोनों वॅक्सीन को सरकार ने मंज़ूरी दी है .

अधिक ज़ानकारी के लिए  :  https://www.cowin.gov.in/home 

Click here  :    http://www.yojanaschemes.in/pm-health-id-card/ 

भारत में जनवरी 2021 से लगने लगेगा टीका .

करोना वॅक्सीन लगवाने के लिए  50 वर्ष  की उम्र वाले से अधिक  लोगों की मर्ज़ी से वॅक्सीन लगवा सकेगें .  वॅक्सीन  लगाने  के  बाद 30 मिनिट तक निरीक्षण  किया ज़ाएगा .  मिनिस्ट्री ऑफ ड्रग  कंट्रोलर  ने कंपनियों  वैक्सीन को के आपातकालीन इस्तेमाल की अर्ज़ी  दे दी है,  और छह अन्य  कंपनियाँ, वैक्सीन  क्लिनिकल  ट्रायल  के  दौर  में  हैं . सरकार  ने  30 करोड लोगों को अगस्त  तक  वॅक्सीन  देने की उमीद जताई  है .

हमारे देश में  पहले चरण में 3006 टीकाकरण केंद्र बनाए हैं | देश के हर राज्य में टीकाकरण की प्रक्रिया  शुरू  हो गई है . पहले चरण में 3 लाख से अधिक स्वास्थ्यकर्मियों को वॅक्सीन दी ज़ायेगी  टीकाकरण  लगवाने  के  आराम करें .

टीकाकरण के लिए हाइलाइट्स: 

1  भारत में बना टीका पूरी तरह सुरक्षित है .

2  रेजिस्ट्रेशन के बाद अप्लिकेंट की 3 (S M S)  रिजिस्टर्ड फोन पर आएगें |

3  टीकाकरण होने के बाद साबधानी का पालन करना ज़रूरी है |

4  किसी भी प्रकार के करोना के लक्षण  दिखें तो अपने आप को दूसरों से दूर रखें |

करोना वॅक्सीन पंजीकरण कराने के लिए दस्तावेज |  

1 आधार कार्ड |

2 वोटर आइडी कार्ड |

3 ड्राइविंग लाइसेन्स |

4 पैन कार्ड |

5 पेंशन दस्तावेज |

6 मनरेगा जॉब कार्ड |

7 पासपोर्ट |

8 बैंक /डाकघर द्वारा जारी |

कॉविड 19 वैक्‍सीन प्लॅटफॉर्म रेजिस्ट्रेशन .

  •  रेजिस्ट्रेशन & वेरिफिकेशन ऑफ बेनिफिशीयरीस
  • शेड्यूलिंग इनॉक्युलेशन 
  • स्मस रिमाइंडर्स फॉर शेड्यूल & फॉलो ओं डोसेज 
  • रिपोर्टिंग आड्वर्स इवेंट फॉलोयिंग इमय्युनिसेशन .
  • ए-सर्टिफिकेट पोस्ट-वॅक्सिनेशन .

 कॉविड 19 वैक्‍सीन टीकाकरण ऑनलाइन अप्लाइ .

कॉविड 19  वैक्‍सीन  अप्लिकेशन  को डाउनलोड करें  और  CO-WIN   ,  arugaya setu application को    डाउनलोड  करें.

Download  करने के बाद नाम और फोन नंबर, घर का पता, अपना आधार कार्ड और पेन कार्ड भरें .

इसके  पशचात आपके फोन पर  S M S  आएगा . उसमें वॅक्सीन लगवाने की तारीक दी ज़ाएगी और  टाइम  से दवाई दी ज़ाएगी . कॉविड 19 वैक्‍सीन  लगाने  के  बाद 30  मिनिट तक नरीक्षण में किया ज़ाएगा .

अंतिम क्षण में आपको इसका ए-सर्टिफिकेट पोस्ट-वॅक्सिनेशन  की  प्रोसेसिंग की ज़ायेगी .

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *