E-Fasal Kshati Portal 2022 : Apply Online for Haryana E-Fasal Kshati Portal

हरियाणा ई-फसल क्षतिपोर्टल 2022 | ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया फॉर ई -फसल क्षति पोर्टल | Eligibility for E-Fasal Kshati portal 2022| 

E-Fasal Kshati Portal 2022
हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी ने  E-Fasal Kshati Portal 2022 की घोषणा 20, मई 2022 को की |

दोस्तों, हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी ने  E-Fasal Kshati Portal 2022 की घोषणा 20, मई 2022 को की | मुख्यमंत्री जी ने कहा की किसानों को अपनी फसल की क्षति की जानकारी इस पोर्टल पर आसानी से मिल जाएगी | हरियाणा सरकार समय समय पर किसानों के हित के नई योजनाओं की घोषणा करती रहती है | ई -फसल क्षति योजना भी इनमें से एक योजना है | आइए हमारे आर्टिकल के जरिए जानें, कि E-Fasal Kshati Portal 2022 क्या है ? कैसे इसके लिए आवेदन करे किसान ? और कैसे इसका लाभ ले सकेगें ? इत्यादि | तो अंत तक हमारे आर्टिकल को पढ़े |

क्या है ई -फसल क्षति पोर्टल 2022

  • E-Fasal Kshati Portal 2022 के माध्यम से किसान अपनी क्षति हुई फसल के लिए मुआवजा पा सकेगें |
  • किसानों को अपनी क्षति हुई फसल का मुआवजा ऑनलाइन प्रक्रिया द्वारा सीधे किसान के खाते में जाएगा |
  • किसान की फसल की क्षति अगर ओलावृष्टि ,भरी वर्षा ,सूखा ,बदल फटना ,कीटों का हमला ,आग लगना, बाढ़ आना ,भूस्खलन इत्यादि के कारन होगी तभी मुआवजे की राशि प्रदान की जाएगी |
  • E-Fasal Kshati Portal 2022 के लिए किसान का मेरी फसल मेरा ब्यौरा के साथ पंजीकृत होना अति आवश्यक है |

PM Krishi Sinchai Yojana

क्या उद्देश्य है ? E-Fasal Kshati Portal 2022  के पीछे हरियाणा सरकार का :

  1. हरियाणा सरकार का मुख्य उद्देश्य किसानों को उनकी क्षति हुई फसल का मुआवजा समय पर दिया जाएं |
  2. E-Fasal Kshati Portal 2022  के माध्यम से किसानों की क्षति हुई फसल का ब्यौरा कृषि विभाग के जरिए ड्रोन की सहायता से लिया जाएगा |
  3. इसी ब्योरे के अनुसार किसान की कितनी फसल बर्वाद हुई है का आंकलन लिया जाएगा और फिर राशि का भुगतान किया जाएगा |
  4. किसानों को ऑनलाइन मोड के जरिए धनराशि मिलेगी |
  5. इसके लिए किसान का मेरी फसल मेरा ब्यौरा पर पंजीकरण पहले से होना चाहिए|
  6. किसानों में अब आत्मनिभर्रता का गन विक्सित होगा |
  7. मुआवजे की राशि से किसान फिर से अपने खेतो में या अपना खुद का रोजगार पाने में सक्षम होगा |

Main Highlights Of Haryana E-Fasal Kshati Yojana  2022

   पोर्टल का नाम      E-Fasal Kshati Portal 2022
   आरम्भ किया गया   हरियाणा सरकार
      साल   2022
   राज्य का नाम   हरियाणा
   उद्देश्य   किसानों की क्षति हुई फसल का मुआवजा प्रदान करना है |
   लाभार्थी   हरियाणा के किसान 
   आवेदन प्रक्रिया   ऑनलाइन 
  आधिकारिक वेबसाइट   क्लिक करें यंहा 

Haryana Yuva Naukri Protsahan Yojana 2022

किसान के लिए कैसे लाभदायक है ? ई-फसल खेती पोर्टल आइए जानते है |

  1. हरियाणा सरकार द्वारा E-Fasal Kshati Portal 2022 लॉन्च किया गया पोर्टल है
  2. E-Fasal Kshati Portal 2022 के माधयम से किसानों की बर्वाद हुई फसल के लिए मुआवजे के रूप में आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी |
  3. पोर्टल के जरिए संबधित कृषि विभाग के माध्यम से क्षति हुई फसल का जायजा लेकर मुआवजे की राशि तय की जाएगी |
  4. किसानों को उनकी फसल की क्षति की राशि उनके अकाउंट में ऑनलाइन डाल दी जाएगी |
  5. इसके लिए कसान का मेरी फसल मेरा ब्यौरा के साथ जुड़ना अति आवश्यक है |
  6. किसान की फसल के व्योरे के बाद तय किए गए 5 स्लैब के अनुसार ही राशि को खाते में डाला जाएगा |
  7. किसान को फसल की क्षति के लिए जिम्मेदार कारण जैसे की आंधी ,तूफ़ान , ओलावृष्टि , भूकंप , बाढ़ ,सूखा इत्यादि की जानकारी भी देनी होगी |
  8. उसी के बाद धनराशि प्रदान की जाएगी |
  9. E-Fasal Kshati Portal 2022 का लाभ हरियाणा के किसान ही ले सकेगें |
  10. किसानों में आत्मविश्वास बढ़ेगा और अपना काम फिर से शरू करने का हौंसला भी आएगा |
  11. किसान अपने परिवार का पालन पोषण भी कर सकेगें |
  12. किसानों की मृत्यु दर में भी कमी आएगी |

आइए डिटेल्स में जानते है, की क्या खास  है ? E-FasalKshati Portal 2022 में दिए गए स्लैब में :

  • हरियाणा सरकार ने E-Fasal Kshati Portal 2022 के माध्यम से किसानों को दिए जाने वाले मुआवजे की राशि के लिए स्लैब में आवंटित किया है |
  • जिसने पहले स्लैब में  0 %और 24 प्रतिशत की क्षति के लिए अलग धनराशि रखी है|
  • दूसरे नंबर पर25 % से 32% के लिए अलग राशि रखी है |
  • तीसरे स्लैब में 33 % 49 % ,चौथे नंबर पर  50 % से  74 % और
  • पांचवें नंबर के स्लैब में 75% से 100% की क्षति के हिसाब से धनराशि प्रदान की जाएगी |
  • किसानों के पंजीकरण संख्या या पंजीकृत मोबाइल नंबर पर जिले तहसीलदार कानूनगो और पटवारी लॉगिन करगें और क्षति का व्योरा लेंगें |

Punjab Labour Card

उपायुक्त कैसे करेगा क्षेत्र का निरिक्षण ? आइए जानें |

  1. किसान की फसल की कितनी क्षति हुई है इसका सत्यापन / निरिक्षण उपायुक्त के द्वारा भी किया जाएगा |
  2. किसान अपनी क्षति फसल का प्रतिशत और उसकी पंजीकृत संख्या भरेगें और अपनी बात लिखेगें |
  3. उपायुक्त अपने लॉगिन अकाउंट से लॉगिन करेगें फॉर्म पर और पटवारी ,तहसीलदार व् कानूनगों के द्वारा भेजें गए डेटा को अपनी साइट पर देखेगें |
  4. इसी के साथ किसान ने जो अपनी फसल की क्षति की शिकायत दर्ज की है|
  5. उसकी वेरिफिकेशन उपायुक्त भी करेगें |
  6. 4 प्रतिशत हिस्से अर्थात क्षेत्र का सत्यापन उपायुक्त द्वारा करना जरूरी है |
  7. सत्यापन के बाद उपायुक्त आयुक्त को अनुमदान भेजेगें |
  8. आयुक्त नोडल अधिकारी को अपना अनुमोदन भेजेगें |
  9. इसके बाद नोडल अधिकारी रिलेटेड जिले द्वारा भेजी गई धनराशि के लिए सरकार की अनुमति लेंगें |
  10. सरकार द्वारा दी गई स्वकृति के बाद धनरशि किसान के पंजीकृत खाते में दाल दी जाएगी |

पात्रता और जरुरी दस्तवेजों की लिस्ट फॉर E-Fasal Kshati Portal 2022

हरियाणा राज्य का किसान होना चाहिए |
आधार कार्ड
मोबाइल नंबर
आय प्रमाण पत्र
मेरी फसल मेरा ब्यौरा का पंजीकरण संख्या
पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

E-Fasal Kshati Portal 2022 आवेदन करने की प्रक्रिया

Soil Health Card Scheme 2022-23

आशा करते है आपको हमारे आर्टिकल में से संबधित सारी जानकारी मिल गई होगी | अंत तक हमारे आर्टिकल को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद |

CONTACT FOR MORE INFORMATION :                                            DEPARTMENT OF AGRICULTURE AND FARMERS WELFARE, HARYANA

Krishi Bhawan, Sector 21, Budanpur, Panchkula-134117 (Haryana)

 0172-2571553, 2571544  , 0172-2563242

E-mail Id :      mfmb-agri[at]hry[dot]gov[dot]in,   hsamb[dot]helpdesk[at]gmail[dot]com

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.