E Gram Swaraj Yojana

E Gram Swaraj Yojana | क्या है ई ग्राम स्वराज योजना आइए जानें


E Gram Swaraj Yojana

दोस्तो,  भारत की आबादी की कुल जनसंख्या में से 69 % लोग गाँवों में रहते है . गावों के लोग बहुत मेहनती और भोलेभाले होते हैं .कुछ गाँवों को मिलाकर एक पंचायत बनाई जाती है. क्योंकि गाँवों के विकास की ज़िम्‍मेदारी एक पंचायत ही निभाती है. शहरों के विकास के लिए सरकारें शुरू से ही प्रयत्नशील रही हैं. पर मोदी सरकार गाँवों के उत्थान के लिए भी भरसक प्रयत्न कर रही है . गाँवों के सशक्त होने से ही देश सशक्त होगा .प्रधानमंत्री  मोदी जी द्वारा गाँवों  के विकास के लिए दो बड़ी योजनाओं की घोषणा 24 अप्रैल,2020 को हुई है . पहली ई-ग्राम स्वराज और दूसरी स्वामित्व योजना. 

ई-ग्राम स्वराज ऐप क्या है

(1) पंचयतों का लेखा-जोखा रखने वाला सिंगल डिजिटल प्लेटफॉर्म ही ई-ग्राम स्वराज ऐप है

(2)  इस योजना के द्वारा  गावों के विकास की गतिविधियों की जानकारी  बडी सरलता से कर सकता है.

  (3) सरकार गाँव के विकास के लिए क्या योगदान दे रही है क्या  विकास कार्य करवाने जा रही है  .

क्या है ई- ग्राम स्वराज पोर्टल

प्रधानमंत्री जी के अनुसार E Gram Swaraj Yojana से ग्राम प्रधानों को बहुत बड़ी शक्ति मिलने वाली है ऐसा उन्होने पंचायती राज दिवस पर ग्राम पंचायतों के प्रधानों को सम्बोधित करते हुए बताया .चलिए अब स्वराज पोर्टल के बारे मे जानकारी हासिल करते है इसके द्वारा  ग्राम पंचायतों को डिजिटिल बनाने के लिए केंद्र सरकार का यह एक सराहनीय कदम है. क्योंकि भविष्य में पंचायत का सारा लेखा जोखा इसके माध्यम से होगा इस पोर्टल के बाद अलग – अलग जगहों पर काम करने की ज़रूरत नहीं होगी.

E gram swraj yojana

E Gram Swaraj Yojana Benefits

(1) इस ऐप पर पंचायत के सारे विकास कार्यों से लेकर फंड तक सारी जानकारी उपलब्ध हो सकेगी |

(2)  किस पंचायत में क्या  काम चल रहा है और विकास कार्य कहाँ तक पहुँच गया है |

(3) काम में पारदर्शिता लाने में इस ऐप का अहम रोल रहेगा अब प्रधानों की मनमानी नहीं चलेगी क्योंकि जो फंड जिस कार्य के लिए मंजूर होगा उससे वही कार्य करना होगा .

(4) केंद्र राज्य सरकारों ने क्या- क्या योजनाएँ गावों के विकास के लिए निकाली है ये सारी जानकारी गाँववासियों को आसानी से मिलेगी.

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना का शुभारंभ

24 अप्रैल 2020पंचायती राज दिवस पर मोदी जी ने देश के विभिन्न प्रांतों के सरपंचों से वीडियो कॉन्फ्रेंस की . और  उन्हे संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी ने पूरी दुनिया को हिला  दिया है. इस बीमारी ने हमारे देश के सामने अनेक मुश्किलें खड़ी की है तो साथ मे हमें सबक़ भी दिया है. इसी दौरान मोदी जी ने सभी सरपंचों चाहे वे वीडियो कॉन्फ्रेंस से जुड़े थे को सम्बोधित करते हुए स्वामित्व योजना का शुभ आरंभ किया है.

स्वामित्व योजना लागू होने पर वाद-विवाद ख़त्म होगें

E gram swraj yojana

गाँवों में सम्पति को लेकर के जो स्थिति बनी रहती है. उससे हम सभी भली भाँति परिचित है. क्योंकि  आए दिन एक पड़ोसी का दूसरे पड़ोसी से दंगा फसाद झगड़ा गाली गलोच होता रहता है. कई बार तो जमीनी जायदाद को लेकर उलझने इतनी बढ़ जाती हैं कि लोगों का सारा जीवन ही कोर्ट कचहरी मे ही बीत जाता है.फिर भी उलझन ज्यों की त्यों रह जाती है . अंग्रेज़ों के समय से ग्रामीण क्षेत्रों मे ज़मीनों का वन्दोवस्त होता आया है जो कि विवाद का एक बहुत बड़ा कारण रहा है.

 

ग्रामीणों को मिलेगा संपति स्वामित्व प्रमाणपत्र

अधिकतर लोगो के पास अपनी संपति के स्वामित्व दस्तावेज़ भी नहीं है.

इस योजना के अंतर्गत ग्रामीणों की  उलझन को सुलझाने में सहायता मिलेगी .

देश के सभी गाँवों में ड्रोन की सहायता से सारी संपाति की मेपिंग की जाएगी

गाँवों के लोगों को उनकी संपाति का स्वामित्व प्रमाणपत्र दिया जाएगा.

इससे गाँवों में विकास कार्यों की योजनाएँ बनेगी व कार्य रफ़्तार से होंगे |

E Gram Swaraj Yojana के लाभ

(1) किसी भी प्रकार के स्वामित्व रिकॉर्ड की अनुपस्थित होने पर उसे आसानी से ढूढा जा सकता है.

(2) आबादी की भूमि के डीमारकेशन, कब्जे जल निकासी या सीमा वाले झगड़ों को हल करने में आसानी होगी.

(3) ग्रामीण क्षेत्रों में भूमि को लेकर जो भी झगड़े होते थे वे सभी समाप्त हो जाएंगे.

(4) सरकार को गाँवों के विकास के लिए नई योजनाएं बनाने में काफ़ी मदद मिलेगी.

(5) देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों तक इस योजना का लाभ पहुँचाया जाएगा.

(6) अब गाँवों में भी लोन लेने का रास्ता और अधिक आसान हो जाएगा.

(7)   सर्वे ऑफ इंडिया को ड्रोन  की मदद से पूरी आबादी क्षेत्र का डाटाबेस बनाने में मदद मिलेगी.

(8)  ग्रामीण क्षेत्रों में रिहायशी भूमि का सीमांकन होगा और सभी ग्रामीण संपतियों का नामांकन भी होगा.

(9) इस योजना से सभी ग्राम पंचयतों की डिजिटाइज़ेशन बढ़ेगी और रिकॉर्ड रखने मे आसानी होगी.

(10)  स्टीक मापन के आधार पर गावों के प्रत्‍येक घर का संपति कार्ड राज्य सरकार बनाएगी.

(11) यह क्रांतिकारी कदम संपति के मालिक को आसानी से मालिकाना हक दिलाएगा.

महत्वपूर्णा लिंक

ई- ग्राम स्वराज पोर्टल वेबसाइट का लिंक- https://egramswaraj.gov.in/  

इस लिंक पे क्लिक करते ही आप ई ग्राम स्वराज की अफीशियल वेबसाइट पे जाके अपनी पंचायत सम्बन्धी सारे जानकारी हासिल क्र सकते हैं.

 

स्वामित्व योजना सर्वप्रथम किन राज्यों में लागू होगी

स्वामित्व योजना को अभी मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक,हरियाणाऔर उत्तराखंड में ट्रायल के तौर पर शुरू किया जायगा.

इन राज्यों से जो अच्छे बुरे अनुभव प्राप्त होंगें तथा उनमें सुधार किया जाएगा.

फिर देश के अन्य राज्य के गाँवों मे लागूकर दिया जाएगा.इस योजना के सफल होने पर भारत के हर गाँव की तस्वीर बदल जाएगी.

ह्मारे द्वारा दी गयी जानकारी आपके लए कितनी लाभपूर्णा रही तथा यदि इस के संबंधित कोई भी प्रसन आपके मान मे हो तो आप कृपया कर कॉमेंट बॉक्स में आवश्या पूछे.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.