Heritage City Development and Augmentation Yojana 2021

  Heritage City Development and Augmentation 

केंद्र सरकार दवरा शहरी विकास मंत्रालय ने नेशनल Heritage City Development हेरीटेज सिटी डेवलपमेंट एंड ऑगमेंटेशन योजना (HRIDYA) की शुरुआत की है । जिसमें ग्राम और शहर दोनों मने विकास करना है। कि इन पुराने शहरों का विकास हो, जिससे ये बेहतर बन सके, और लोग इसकी ओर आकर्षित हों. शहर का विकास होने से वहां लोगों का आवागमन बढ़ेगा, जिससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा.स र का र द व रा यह स्कीम में सभी पुराने मकान और बारिश में हुई खराब घर और धर्मशला, को सही तरिके से ठीक किया जाएगा।

जिसकी मदद से लोगों का घर बी नए जायेगें . सरकार दवरा Heritage City Development  स्कीम 12 शहरों को विकास के लिए चुना गया है। जिसमें जमेर, अमरावती (आंध्रप्रदेश), अमृतसर, बादामी, द्वारा, गया, कांचीपुरम, मथुरा, पूरी, वाराणसी, वेलान्कन्नी एवं वारंगल. ये सभी शहर धार्मिक स्थान भी शामिल हैं।  भारत देश में शहर और ग्राम में हरेर्कल विकास होने से वहां लोगों का आवागमन बढ़ेगा, जिससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा. इस स्कीम से सर का र और राज्य दोनों को लाभ भी मिलेगा ।
इस योजना में चुने हुए शहरों के इन्फ्रास्ट्रक्चर को बदला जायेगा,जिससे जैसे भारत के घाट, मंदिर आदि. इसके अलावा यहाँ रोड, पब्लिक ट्रांसपोर्ट, होटल, कियोस्क, शौचालय की सुविधा, नागरिक विकास पर भी विशेष कार्य किया जाएगा।

Heritage City Development

 

Heritage City Development स्कीम हाईलाइट 2021. 

      HRIDAY       डेवलपमेंट ऑफ़ हेरिटेज सीटीस .
    लांच की गई    21 जनवरी 2015 –  feb 2022
        बजट        500 करोड़
       टोटल सिटी        12
     योजना का समय      27 महीने
          Budget        500 Crore

 

अधिक जानकारी के लिए :  https://mohua.gov.in/cms/hariday.php

HRIDAY स्कीम से जुड़ी मुख्य बातें ।

1 इस योजना का मुख्य उद्देश्य भारत देश के पुराने, प्राचीन शहरों का विकास करना है. भारतीय       संस्कृति बनी रहे।
2 जो भारत देश की पूरानी धरोहर जिनको संभाल के रखने के लिए उसका रख-रखाव बहुत जरुरी      है . इस प्रोजेक्ट में अभी देश की अत्यंत प्रसिध्य 12 शहरों को चुना है.

3 इस योजना में शहर के विकास के द्वारा नया शहरो के साथ ग्राम का भी विकास किया जाएगा .
इस प्रोजेक्ट के द्वारा भारत के टूरिज्म को लाभ मिलेगा।

4  भारत में स्कीम के द्वारा सरकार यही उम्मीद लगा रही है की देश की आर्थिक स्थिती बडिया        होगी।

5 विदेशी भी इस शहरीकरण से आकर्षित होंगें और देश में पर्यटकों की संख्या बढ़ेगी. अभी इन         धार्मिक शहरों के नाम तो बड़े लेकिन दर्शन छोटे है.

6  धार्मिकता के नाम पर यहाँ हर तरफ गन्दगी रहती है और सुविधा के नाम पर कुछ नहीं होता         है,

7  इससे भारतीय पर्यटक तो काम चला लेते है, लेकिन विदेशी पर्यटक इन जगहों में जायेगें।

 

Click here :  https://www.yojanaschemes.in/one-nation-one-mobility-card-2021/

HRIDAY स्कीम के फायदे 2021 .

1 देश के शहर को नया बनाने के कइ कारण है. ये प्राचीन शहर के मंदिर अनेकों पर्यटकों की रीझना है.

2 जिससे पूर्णतः रूप से नई विकास हो और विकसित हो जाने पर इसमें लोग आऐ, जिससे पर्यटन में बहुत फायदा होगा.

3 इन 12 शहर के विकास से, पर्यटकों को सभी तरह की सुख-सुविधाडि जायेगे। जिससे लोग       उसका लाभ ले पायेगें।

4 एक नया, विकसित शहर बनेगा जिसकी मदद से लोगों रोजगार के और रास्ते खुलेंगें.

5 भारत में ज्यादा पर्यटक आने से, देश का पर्यटन सिस्टम मजबूत होगा,

6 देश की आर्थिक अर्थव्यवस्था में तेजी से बदलाव आएगा.

क्रमांक शहर का नाम निर्धारित खर्च (Fund in Crores)

1. अजमेर     40.04
2. अमरावती  22.26
3. अमृतसर    69.31
4. बादामी       22.26
5. द्वारका       22.26
6. गया          40.04
7. कांचीपुरम   23.04
8. मथुरा        40.04
9. पूरी          22.54
10. वाराणसी  89.31
11. वेलान्कन्नी  22.26
12. वारंगल     40.54

HRIDAY योजना के बारे  में .

इन शहरो को लिए भारत सरकार दवरा सभी जगह को सुनदर बी न या जाएगा। इसके लिए बढ़िए फूल और गुलाब से बगीचे में लगाया जाएगा।

इस स्कीम में शहर की सुन्दरता, सुरक्षा, बिजली, खान-पान, पानी की कमी आदि मुख्य जरूरतों को देखा जायेगा. अगर ये सभी चीजें सही तरीके से होगी और तो, पर्यटक को इस स्थान में घुमने के दौरान सुविधा दी जायेगें,और दूसरों को भी जाने के लिए बतायेगें।

इस योजना या स्कीम का पूरा फण्ड केन्द्रीय सरकार दे रही है. इस योजना को पूरा करने के लिए 27 महीने का समय निर्धारित किया गया है, जो मार्च 2017 में पूरा कीज़ाना था। अब इसकी तारीक 2021 बढाइ गई है .

The Pink city is one of the latest additions to the list of UNESCO world heritage sites. This fortified city was founded by Sawai Jai Singh in 1727. The urban planning of the city has ideas from Hindu, modern Mughal and Western cultures. Jaipur is home to many famous structures like the Amer Fort, City Palace, Jantar Mantar and Hawa Mahal.

The city is full of palaces, most of which are now converted to hotels. It is also known for its shopping, with the famous Gota Patti, Bandhej, Jutis, the cotton bedsheets, Silver, and the digestive pills known as ‘Churan’. It is the land of the beloved sweet ‘Ghewar’. The city is always bustling with tourists, except in the summer months when it tends to get too hot for the visitors.

ह्रदय स्कीम के तहत विरासत संरक्षण करने के लिए चलाइ गई है।जिसके आधार पर राज्य दवरा शहरी विरासत को संभालकर रखा गया है। इस प्रोजेक्ट्स के लिए मोदी सरकार ने 500 करोड़ रुपये का बजट तय किया है जो की केंद्र स र का र द व रा रखा गया है। सरकार दवारा बनाइ बुनियादी ढांचे, सड़क, रहने, सुरक्षा, भोजन, बिजली, पानी की आपूर्ति और कई अन्य सुविधाओं जैसे विभिन्न मुद्दों पर विकास होगा।

ये सभी चीजें अपने तरीके से बेहतर होनी चाहिए ताकि आगंतुक किसी भी अवसर या छुट्टी के दौरान अपने प्रवास का आनंद ले पायेगें।  सरकार दवारा इस परियोजना को पूरा करने की कुल अवधि विकास प्रक्रिया शुरू होने के समय से 27 महीने है। इसे के दौरान इसका निर्माण किया जाएगा . अंत में में आप को बताना चा ह ता हु की मेरे द व रा दी हुई जान करि आप लोगों के लिए लाभ दा यक होगी .

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.